जखिया गढ़वाल का जंगली जीरा…… नन्दनी बर्थवाल , नई दिल्ली

जखिया गढ़वाल का जंगली जीरा…… नन्दनी बर्थवाल , नई दिल्ली
गढ़वाल क्षेत्र में पाए जाने बाले पौधों में एक पौधा है जो गढ़वाल की हर रसोई में पाया जाता है यह पौधा है जखिय, जखिया जिसे जंगली सरसों भी कहा जाता है और गढ़वाल में इसे पहाड़ का जीरा भी कहा जाता है।बरसात के मौसम में हर जगह उगता देखा जा सक़ता है। गढ़वाल की हर रसोई में इसके बीज को तड़के में इस्तेमाल किया जाता है। इसकी खुशबु तीखी होती है और हरसब्जि को लज़ीज़ बना देती है। जखिया गढ़वाल के खाने को पहाड़ का स्वाद दिलाता है। मैं कह सकती हूँ की बिना जखिया के गढ़वाल के खाने में पहाड़ का स्वाद नही आ सकता। पहाड़ में पाए जाने बाला यह बीज सरसों की तरह होता है जो सिर्फ आपको घर में ही मिल सकता है कहीं शहर या माल में नही यहाँ तक की गहवाल के शहरी बाजार में भी नही मिलेगा। यह पौधा लगभग पूरे बिश्व में उष्णपर्देशिय इलाकों में पाया जाता है जोकि ना सिर्फ एक मसाले की तरह ही इस्तेमाल किया जाता है बल्कि एक ओषधीय पौधे के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है। आयुर्वेद में जखिया का पंचांग इस्तेमाल किया जाता है। यह बुखार, खांसी, जलन, हैजा आदि बीमारियों के लिए एक रामबाण ओषधीय है, शायद इसी लिए हमारे पुरखों ने इसे रोज़ मर्रा कि ज़िन्दगी में एक मसाले के रूप में इस्तेमाल करना शुरू किया होगा। जखिया का सिर्फ बीज ही नही बल्कि इसके पत्ते को साग बना कर भी खाया जाता है। हाल ही में एक शोदपत्र पढ़ रही थी जो बता रहा था की जखिया के बीज का तेल दिमागी बिमारियों को ठीक करने में इस्तेमाल किया जाता है। गढ़वाल में अगर किसी को कभी चोट लग जाती है तो जखिया के पत्ते जख्म बरने के लिए एक first aid का काम करते हैं। जखिया कोई व्यवसायक् पौधा नही है खेत की मेंड़ पर ,सड़क के किनारे, जंगल में तथा खुले पढ़े मैदानों में उगता देखा जा सकता है। गगढ़वाल में एक प्रथा है जिस जगह पर जखिया नही पाया जाता तो पहाड़ के लोग इसे एक gift के रूप में अपने रिश्तेदारों तथा दोस्तों को देते हैं। आज इसकी बढ़ती माँग की बजह से किसान इसकी खेती के बारे में भी सोच रहे हैं। गढ़वाल में जखिया के बीज को बरसात के बाद इकट्ठा किया जाता है और फिर घूप में सूखा कर पूरे बर्ष इस्तेमाल किया जाता है। यहां तक कुछ बैघनिकों का मानना है यह बीज boidiesel के रूप में भी इस्तेमाल किए जा सकते हैं। जखिया जिसका बॉघनिक नाम Cleome viscoa है यह 500 से 1500 मीटर तक ऊंचाई बाले क्षेत्र में पाया जाता है। अभी तक इसको बैघनिक तरिके से एक फल के रूप में उगाने के बहुत कम प्रयास किए गए हैं मगर देखा गया है अगर जखिया को एक फसल के रूप में उगाया जाए तो यह एक लाभदायक फसल साबित हो सकती है। जखिया को बहुत से इलाकों में एक खरपतवार माना जाता है पर गढ़वाल में यह एक आय का साधन भी बन सकता है अगर इसे एक व्यवसायिक फसल के रूप में कृषि में लाया जाए। जखिया जिसे asian spider flower भी कहा जाता है एक मीटर तक ऊँचा होता है जो capparidaceae परिवार का बरसात में उगने बाला पौधा है। पीले फूल बाले इस पोधे के तने पर बहुत बारीक बाल होते हैं 3 से 5 छोटे छोटे पत्ते मिल कर एक पत्ता बनाते हैं। बीज सरसों के बीज के समान गोल और उसी रंग के होते हैं। जखिया अगर यूँ कहा जाए की गढ़वाल के खाने की अलग से एक पहचान है तो गलत नही होगा। आज यहां यहां गढ़वाल के लोग बसे हैं वहाँ वहाँ जखिया मिल जाएगा। यहां तक की गढ़वाल के chef आज बड़े बड़े होटल में भी जखिया से बने खाने को परोसते हैं। हालांकि यह बरसात के दिनों में बहुत सी जगह एक खरपतवार के रूप में उगता देखा जाटा है पर अगर इसे एक व्यवसायिक फसल के रूप में उगाया जाए तो गाँव से शहर की तरफ हो रहे पलायन को काफी हद तक रोका जासकता है।

123 Comments

  1. Please let me know if you’re looking for a writer for your weblog.
    You have some really great articles and I think I
    would be a good asset. If you ever want to take some of the load off, I’d love to write
    some content for your blog in exchange for a link back to mine.
    Please blast me an email if interested. Regards!

  2. It’s perfect time to make a few plans for the future and it is time
    to be happy. I have learn this submit and if I could I wish
    to suggest you few attention-grabbing things or advice.

    Perhaps you can write next articles relating to this
    article. I wish to learn even more things about it!

  3. I’m now not positive the place you are getting your information, however good topic.

    I must spend some time finding out much more or figuring out more.
    Thanks for great info I used to be looking for this information for my mission.

  4. I loved as much as you will receive carried out right here.
    The sketch is tasteful, your authored subject matter stylish.

    nonetheless, you command get bought an impatience over that you wish be
    delivering the following. unwell unquestionably come more formerly
    again as exactly the same nearly very often inside case you shield this
    increase.

  5. Amazing blog! Do you have any tips for aspiring writers?
    I’m planning to start my own website soon but I’m a little lost on everything.
    Would you suggest starting with a free platform like WordPress or go for a paid option? There are so many options out there that I’m totally overwhelmed ..

    Any suggestions? Cheers!

  6. Hey There. I found your weblog the usage of msn. This is an extremely well written article.
    I will make sure to bookmark it and come back to learn extra of your helpful information.
    Thanks for the post. I’ll certainly comeback.

  7. Someone necessarily assist to make seriously posts I’d state.

    That is the very first time I frequented your website page and to this point?
    I surprised with the research you made to make this actual post extraordinary.
    Great activity!

  8. We are a group of volunteers and starting a new scheme in our
    community. Your website provided us with valuable information to
    work on. You have done an impressive job and our entire community will be thankful to you.

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *