दिखो लोको– कल्पना खजुरिया, ऊधमपुर

दिखो लोको– कल्पना खजुरिया, ऊधमपुर कनून नराले इस दुनिया दे दिक्खो लोको। अपना अपने गी ख़ंजर मारे दिक्खो लोको। सच गी झूठ झूठा सच्चे गी किंया बनाना। ते तोर तरीके…

हर्षिल, विल्सन, स्टोक्स एवं सेब–डा0 राजेन्द्र डोभाल

हर्षिल, विल्सन, स्टोक्स एवं सेब–डा0 राजेन्द्र डोभाल सामान्यतः मैं उत्तराखण्ड के पारम्परिक बहुमूल्य उत्पादों के बारे में लिखता हूं जिसका मकसद आम जनमानस को उत्तराखण्ड के पारम्परिक बहुमूल्य उत्पादों एवं…