सावन का महीना–ममता गैरोला,भिवाड़ी राजस्थान

सावन का महीना–ममता गैरोला,भिवाड़ी राजस्थान

सावन का महीना जिसमें भगवान शंकर की कृपा से मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है। यूं तो भगवान शंकर की पूजा के लिए सोमवार का दिन पुराणों में निर्धारित किया गया है। लेकिन पौराणिक मान्यताओं में भगवान शंकर की पूजा के लिए सर्वश्रेष्ठ दिन महाशिवरात्रि, उसके बाद सावन के महीने में आनेवाला प्रत्येक सोमवार, फिर हर महीने आनेवाली शिवरात्रि और सोमवार का महत्व है। पर सावन के महीने की तो विशेष मान्यता है। आइए बताते हैं क्यों और क्या है इसके पीछे की कहानी और मान्यताएं… क्या है सावन की मान्यता ऐसी मान्यता है कि प्रबोधनी एकादशी (सावन के प्रारंभ) से सृष्टि के पालन कर्ता भगवान विष्णु सारी ज़िम्मेदारियों से मुक्त होकर अपने दिव्य भवन पाताललोक में विश्राम करने के लिए निकल जाते हैं और अपना सारा कार्यभार महादेव को सौंप देते है। भगवान शिव पार्वती के साथ पृथ्वी लोक पर विराजमान रहकर पृथ्वी वासियों के दुःख-दर्द को समझते है एवं उनकी मनोकामनाओं को पूर्ण करते हैं, इसलिए सावन का महीना खास होता है। शिव को सावन ही क्यों प्रिय है? महादेव को श्रावण मास वर्ष का सबसे प्रिय महीना लगता है क्योंकि श्रावण मास में सबसे अधिक वर्षा होने के आसार रहते हैं, जो शिव के गर्म शरीर को ठंडक प्रदान करता है। भगवान शंकर ने स्वयं सनतकुमारों को सावन महीने की महिमा बताई है कि मेरे तीनों नेत्रों में सूर्य दाहिने, बांएं चन्द्र और अग्नि मध्य नेत्र है। हिन्दू कैलेण्डर में महीनों के नाम नक्षत्रों के आधार पर रखे गयें हैं। जैसे वर्ष का पहला माह चैत्र होता है, जो चित्रा नक्षत्र के आधार पर पड़ा है, उसी प्रकार श्रावण महीना श्रवण नक्षत्र के आधार पर रखा गया है। श्रवण नक्षत्र का स्वामी चन्द्र होता है। चन्द्र भगवान भोलेनाथ के मस्तक पर विराज मान है। जब सूर्य कर्क राशि में प्रवेश करता है, तब सावन महीना प्रारम्भ होता है। सूर्य गर्म है एवं चन्द्र ठण्डक प्रदान करता है, इसलिए सूर्य के कर्क राशि में आने से झमाझम बारिश होती है। जिसके फलस्वरूप लोक कल्याण के लिए विष को ग्रहण करने वाले देवों के देव महादेव को ठण्डक व सुकून मिलता है। शायद यही कारण है कि शिव का सावन से इतना गहरा लगाव है। और सावन का महीन माँ पारवती जी को भी पसंद हैं कयोंकि इसी महीने में हरियाली तीज भी आती हैं जिस में सभी सत्रियाँ सज सवर कर अपनें पति की लम्बी उम्र की कामना भगवान शंकर जी से करती हैं तभी तो सावन का महीना सभी के लिए खास होता हैं
ममता गैरोला,भिवाड़ी राजस्थान

149 Comments

  1. Remarkable things here. I am very satisfied to see your
    article. Thank you so much and I’m taking a look forward to contact you.
    Will you kindly drop me a e-mail?

  2. I’ve been browsing online more than 3 hours today,
    yet I never found any interesting article like yours.
    It’s pretty worth enough for me. In my opinion, if all site
    owners and bloggers made good content as you did, the internet will be much more useful than ever before.

  3. I’ve been browsing on-line greater than three hours lately, yet I never discovered
    any attention-grabbing article like yours. It’s beautiful
    price sufficient for me. Personally, if all web owners and bloggers made good content as you did, the net will probably be much
    more useful than ever before.

  4. Great beat ! I would like to apprentice even as you amend your site,
    how could i subscribe for a blog website? The account aided me a
    applicable deal. I were a little bit acquainted of this your broadcast offered vivid clear concept

  5. Does your website have a contact page? I’m having problems locating it but, I’d like to send you an email.
    I’ve got some suggestions for your blog you might be interested in hearing.
    Either way, great website and I look forward to seeing it develop over time.

  6. Wow that was odd. I just wrote an very long comment but after I clicked
    submit my comment didn’t appear. Grrrr… well I’m not writing all that over again. Anyway, just wanted to
    say excellent blog!

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *